शिवराज की मंत्री के बिगड़े बोल, कहा- मदरसों से आतंकवादी निकलते हैं, इन्हें बंद कर देना चाहिए

Edited By Vikas Tiwari, Updated: 20 Oct, 2020 03:46 PM

shivraj s minister said madrasas should be closed

असम में सरकारी मदरसों पर कार्रवाई के बाद अब मध्यप्रदेश में सियासत शुरू हो गई है। शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मदरसों को दिया जाने वाला ...

इंदौर (सचिन बहरानी): असम में सरकारी मदरसों पर कार्रवाई के बाद अब मध्यप्रदेश में सियासत शुरू हो गई है। शिवराज सरकार में कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने मदरसों को लेकर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि मदरसों को दिया जाने वाला सरकारी ग्रांट बंद कर दिया जाना चाहिए, क्योंकि सभी आंतकी मदरसों से ही निकले हैं। उन्होंने कहा कि मदरसों को सरकारी सहायता नहीं मिलनी चाहिए। वक्फ बोर्ड तो अपने आप में खुद ही एक सक्षम संस्था है। उषा ने कहा कि कोई व्यक्ति निजी तौर पर मदरसों में मदद करना चाहता है तो वह कर सकता है, लेकिन खून पसीने की गाढ़ी कमाई को हम जाया नहीं होने देंगे। मदरसों में दिए जाने वाले पैसों को हम विकास के कामों में लगाएंगे।
 


मदरसों से निकलते हैं आतंकवादी!
कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने कहा कि मदरसों में जिस तरह की शिक्षा दी जाती है, उस हिसाब से वहां कट्टरवाद फैलता है और आतंकवादी बनते हैं। क्यों न देश विरोधी गतिविधियों को देखते हुए और राष्ट्रहित के लिए मदरसों को बंद कर दिया जाना चाहिए।

PunjabKesari, Madhya Pradesh, Indore, Shivraj Singh Chauhan, cabinet minister Usha Thakur, madrasa, madrasa, terrorism, madrasa should be stopped

कमलनाथ पर भी साधा निशाना...
पत्रकारों से चर्चा के दौरान कैबिनेट मंत्री उषा ठाकुर ने कमलनाथ सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि जिस प्रकर 15 माह की कमलनाथ की झूठी सरकार ने मंदिरों पर 10 प्रतिशत टेक्स जजिया कर लगाया। 5 हजार रुपए वेतन मौलवियों और इमाम को दिया जा रहा है। सरकार अन्य वर्गों के हक छीन रही है। प्रदेश के लोगों से अपील है कि 3 नवम्बर को इनको आईना दिखाए। पाकिस्तान के हिंदुओं को यातना के चलते बीजेपी ने कानून लाया। लेकिन कांग्रेस ने इस कानून का विरोध किया। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर आरोप लगाते हुए उषा ठाकुर ने कहा कि कमलनाथ ने कहा था कि महिलाओं के लिए अलग से शराब की दुकान खोली जाएगी, आदिवासी को हिन्दू लिखने पर कार्रवाई की जाएगी। जीतू पटवारी ने कहा कि राम और संविधान को चुनने पर संविधान को चुनेंगे। कमलनाथ की धार्मिकता को लेकर उषा ठाकुर ने कहा कि वो धार्मिकता का दिखावा करते हैं, उन्हें ये बात समझ में आ गई है। वो कुछ भी करें जनता समझ गई है। कमलनाथ के विवादित बयान को लेकर उन्होंने कहा कि  किसी भी महिला पर अपमानित शब्दों का प्रयोग अनुचित है।

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!