आंखों में आंसू लिए बेबस किसान लगाता रहा गुहार, फिर भी बेरहम प्रशासन ने लहलहाती फसल पर चला दी JCB

Edited By meena, Updated: 18 Oct, 2020 03:27 PM

किसान को अन्नदाता कहा जाता है। वह रात दिन अपने खेतों में पसीना बहाता है और अपनी फसल को अपनी संतान की तरह पालता है। एक समय आता है जब उसकी मेहनत रंग लाती है और खेतों में लहलहाती फसल देख वह झूम उठता है। लेकिन फसल कटने से पहले ही अगर उसकी मेहनत पर कोई...

छत्तीसगढ़(वेद तिवारी): किसान को अन्नदाता कहा जाता है। वह रात दिन अपने खेतों में पसीना बहाता है और अपनी फसल को अपनी संतान की तरह पालता है। एक समय आता है जब उसकी मेहनत रंग लाती है और खेतों में लहलहाती फसल देख वह झूम उठता है। लेकिन फसल कटने से पहले ही अगर उसकी मेहनत पर कोई पानी फेर दे या उसके बेटों समान फसल को कोई खराब कर दे तो इससे बड़े दुर्भाग्य की बात उसके लिए और नहीं होती।

PunjabKesari

ऐसा हुआ है छत्तीसगढ़ के सरगुजा में रहने वाले अशोक विश्वास के साथ। जहां नगर निगम ने आवास निर्माण के लिए कब्जे को लेकर एक किसान की लहलहाती फसल पर जेसीबी चला कर पूरी तरह से नष्ट कर दिया। किसानों का आरोप हैं की नगर निगम ने बिना नोटिस दिए कार्रवाई की गई है। 

PunjabKesari

प्रशासन के इस तुगलकी फरमान पर किसान बेबस निगाहों से लहलहाती फसल को उजड़ता देखता रहा और उसकी आंखें भर गई। जबकि आखों में आसूं लिए किसान ने कहा कि कई सालों से उस जमीन में खेती किसानी का कार्य करता रहा है लेकिन निगम ने एक झटके में उससे उसका सबकुछ छीन लिया। अपनी आंखों के सामने फसल की यह हालत देख किसान बेचारे की आंखे नम हो गई।

PunjabKesari

इस मामले में मेयर अजय तिर्की ने बताया कि वह जमीन एक साल से प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए आरक्षित हैं और लोगों को इस बात की जानकारी भी दी गई थी। बावजूद इसके आरक्षित जमीन पर फसल उगाई गई है। हालांकि इस दौरान मेयर अजय तिर्की ने कब्जे को लेकर धान की फसल पर जेसीबी चला कर उसे बर्बाद करने को गलत भी ठहराया हैं।


 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!