मंत्री जयभान पवैया की जीत पर कार्यकर्ता ने की अपना सिर कटवा लेने की घोषणा

Edited By suman, Updated: 18 Nov, 2018 06:14 PM

declaration by the worker to cut his head on the victory

भले ही चौथी बार प्रदेश में अपनी सरकार बना लेने का दावा करने वाली भारतीय जनता पार्टी और उसके नेताओं को कड़े संघर्ष के बीच से दो चार होना पड़ रहा है लेकिन भाजपा के ही एक कार्यकर्ता द्वारा मंत्री जयभान पवैया को लेकर की गई एक फेसबुक पोस्ट से चर्चा का...

ग्वालियर: भले ही चौथी बार प्रदेश में अपनी सरकार बना लेने का दावा करने वाली BJP और उसके नेताओं को कड़े संघर्ष के बीच से दो चार होना पड़ रहा है। लेकिन BJP के ही एक कार्यकर्ता द्वारा मंत्री जयभान पवैया को लेकर की गई एक फेसबुक पोस्ट से चर्चा का माहौल गरम है। जगबीर सिंह तोमर नामक इस कार्यकर्ता का दावा है कि मंत्री जयभान पवैया ने बजरंग दल के अध्यक्ष होने के नाते जो राजनीतिक रूप से फायदा उठाया वह अब सत्ता के मद में घमंड से भर गए हैं, और लोगों का उपहास उड़ाने से नहीं चूकते हैं ।सभी का व्यंग्यात्मक शैली में उनका उपहास उड़ाते पवैया को इस कार्यकर्ता  ने कई बार देखा है।
 

PunjabKesari

उसने कहा कि जो बजरंगबली का सच्चा भक्त और आध्यात्मिक प्रवृत्ति का होगा उसे वोट के लिए दर-दर भीख मांगते नहीं घूमना चाहिए बल्कि उसे तो लोगों को कुछ देना चाहिए। इसलिए जगबीर सिंह तोमर का दावा है कि पवैया इस चुनाव में हार जाएंगे।इसके लिए वो किसी से  भी आध्यात्मिक और धार्मिक रूप से शर्त लगाने को तैयार है। फिर चाहे वह किसी भी धर्म से संबंधित क्यों ना हो। उसका कहना है कि 'यदि पवैया जीते तो वह अपना सिर कटवा लेगा। इसी तरह पवैया भी घोषित करें कि अगर वो हारे तो अपना  सिर कटवा लेंगे'। 

PunjabKesari


1997 से जगबीर सिंह तोमर भाजपा का कार्यकर्ता है वह गोल पाड़ा स्थित बालाजी मंदिर में पूजा पाठ करते हैं और ज्यादातर वक्त मंदिर में ही गुजारते हैं। इस पुजारी का कहना है कि पवैया ने धार्मिक आडंबर बहुत किए हैं लेकिन वे आध्यात्मिक रूप से सशक्त नहीं बने हैं। बल्कि अपने व्यवहार से वे लोगों का मजाक उड़ाने से भी नहीं चूकते है। गौरतलब है कि पवैया ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के रूप में मैदान में है जबकि उनके सामने कांग्रेस के प्रदुमन तोमर हैं दोनों के बीच कांटे की लड़ाई बताई जा रही है लेकिन पहले से ही तोमर से कड़ी चुनौती मिल रही पवैया की परेशानी उनकी ही पार्टी के कार्यकर्ता ने इस अनोखी शर्त से और ज्यादा बढ़ा दी है ।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!