मप्र भाजपा कार्यकारिणी बैठक: भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनावों में 200 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा

Edited By PTI News Agency, Updated: 24 Jan, 2023 11:47 PM

pti madhya pradesh story

भोपाल, 24 जनवरी (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में 230 में से 200 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

भोपाल, 24 जनवरी (भाषा) भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मध्य प्रदेश में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव में 230 में से 200 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा है।

यहां मंगलवार को पार्टी कार्यालय में भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में मध्य प्रदेश में भाजपा के प्रभारी मुरलीधर राव ने कहा कि दिसंबर में होने वाले चुनाव के लिए पार्टी के पास ज्यादा समय नहीं बचा है। रोडमैप तैयार कर और 200 दिन में इसे लागू कर 200 सीटें जीतने का लक्ष्य रखा गया है।

वर्ष 2018 के चुनावों में कांग्रेस ने 114 सीटें जीती थीं और भाजपा के खाते में 109 सीटें आयी थीं। कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस ने सपा और बसपा तथा निर्दलीय विधायकों के समर्थन से गठबंधन सरकार बनाई थी हालांकि मार्च 2020 में कांग्रेस के विधायकों के एक समूह के भाजपा में शामिल होने से कांग्रेस सरकार गिर गई।

इस अवसर पर, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और भाजपा के उनके दो पूर्ववर्तियों, उमा भारती और दिवंगत बाबूलाल गौर के शासन में प्रदेश को "बीमारू" श्रेणी से बाहर निकालने के लिए नेतृत्व की प्रशंसा की।

तोमर ने कहा, ‘‘मध्य प्रदेश को 2003 तक 'बीमारू' राज्य माना जाता था। लेकिन उमा भारती, बाबूलाल गौर (दोनों पूर्व मुख्यमंत्री) और वर्तमान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में भाजपा के सत्ता में आने के बाद, राज्य विकास के मार्ग पर तेजी से आगे बढ़ा है।’’
चौहान पहली बार नवंबर 2005 में मुख्यमंत्री बने थे और बीच में जब 15 महीने के लिए (दिसंबर 2018 से मार्च 2020 तक) जब विधानसभा चुनाव के बाद कमलनाथ के नेतृत्व में कांग्रेस की सरकार बनी थी, को छोड़कर वह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री बने हुए हैं।

तोमर ने कहा कि कई देश भारत की ओर बड़ी उम्मीद से देख रहे हैं क्योंकि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व पर भरोसा है।

मुरैना से भाजपा सांसद ने कहा, ‘‘कभी बीमारू राज्य रहा मध्यप्रदेश भी अब तेजी से विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। इंदौर में प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के सफल आयोजन के साथ मध्यप्रदेश ने सारी दुनिया में अपनी श्रेष्ठता स्थापित की है।’’
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान के प्रयासों से जीआईएस में 15.40 लाख करोड़ से अधिक के करार हुए, जो एक बड़ी सफलता है। इतने निवेश से प्रदेश में 29 लाख रोजगार पैदा होंगे।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन और जीआईएस कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए सरकार की प्रशंसा की और कहा कि मध्य प्रदेश ने केंद्र द्वारा सौंपी गई सभी जिम्मेदारियों को हमेशा पूरा किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया के विभिन्न देशों में रह रहे 3.5 करोड़ भारतीय मूल के लोगों ने भारत के प्रति दुनिया के रुख को बदला है। माइक्रोसॉफ्ट और गूगल के सीईओ से लेकर ब्रिटिश प्रधानमंत्री तक भारतीय मूल के हैं और इन प्रवासी भारतीयों ने सारी दुनिया में भारत का झंडा थाम रखा है।’’

यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।

Related Story

Pakistan
Lahore Qalandars

Karachi Kings

Match will be start at 12 Mar,2023 09:00 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!