MY अस्पताल की बड़ी कामयाबी, 4 हाथ, 4 पैर वाले बच्चे का किया सफल ऑप्रेशन

Edited By meena, Updated: 23 Oct, 2020 06:02 PM

successful operation of my hospital

मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल एक अनूठे ऐतिहासिक ऑपरेशन की वजह से एक सुर्खियों में है। जहां डॉक्टर्स की टीम ने एक विलक्षण ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देते हुए एक ऐसे बच्चे को नई जिंदगी दी जिसके चार हाथ, चार पैर और एक सिर एक था। ये बच्चा...

इंदौर: मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल एक अनूठे ऐतिहासिक ऑपरेशन की वजह से एक सुर्खियों में है। जहां डॉक्टर्स की टीम ने एक विलक्षण ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम देते हुए एक ऐसे बच्चे को नई जिंदगी दी जिसके चार हाथ, चार पैर और एक सिर एक था। ये बच्चा हेट्रोफोगस बीमारी से ग्रसित था। झाबुआ का ये चार दिन का बच्चा 12 तारीख को इंदौर लाया गया, जिसे स्पेशल डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेट करने का फैसला लिया और सफलतापूर्वक सर्जरी कर बच्चे को बचाया जा सका। डाॅक्टरों ने तीन घंटे के जटिल ऑपरेशन के बाद चार दिन के इस बच्चे के शरीर के अंगों को अलग किया।

PunjabKesari
डॉक्टरों के मुताबिक इस तरह की बीमारी 10 से 20 लाख बच्चों में से एक को होती है। जिसके इलाज में कम से कम 5 से 7 लाख रुपए का खर्च आता है। इस सारे वाक्य में सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि बच्चे का जन्म घर में ही हुआ, बच्चे के  माता पिता झाबुआ के ग्रामीण क्षेत्र में रहते है। गरीबी की वजह से स्वास्थ्य सुविधाओं से भी वंचित रहे।
PunjabKesari
बच्चे का जन्म हुआ तब ही उन्हें पता चला कि बच्चा सामान्य नहीं है। बच्चे के पिता का कहना है कि जब वे बच्चे को एमवाय अस्पताल लेकर आए तो उन्हें उम्मीद नहीं थी कि बच्चा बचेगा, लेकिन डॉक्टरों के चमत्कार को अब वे धन्यवाद कह रहे है। 

PunjabKesari
वहीं बच्चे की मां मेघनगर की रहने वाली मोनिका का यह तीसरा बच्चा था। ग्रामीण आदिवासी मोनिका ने घर पर ही अपनी डिलीवरी करवाई। जब यह अजीब बच्चा पैदा हुआ तो वह झाबुआ के अस्पताल में लेकर गई। वहां से बच्चे और मां को एम वाय अस्पताल इंदौर रेफर किया गया। ऑपरेशन करके बच्चे को स्वस्थ किया गया। अब बच्चा और मां दोनों स्वस्थ है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!