energy minister pradhuman singh tomar के खिलाफ हाईकोर्ट में परिवाद दायर, 11 मई को सुनवाई, ये रहा पूरा मामला

Edited By Devendra Singh, Updated: 08 May, 2022 07:02 PM

complaint filed in gwalior branch of high court against pradhuman singh tomar

मध्य प्रदेश हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ में एडवोकेट देशराज भार्गव ने ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के खिलाफ एक परिवाद दायर किया है। जिसकी सुनवाई 11 मई को कोर्ट करेगा।

ग्वालियर (अंकुर जैन): मध्यप्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर (pradhuman singh tomar) के खिलाफ विद्युत लाइन को ठीक करने के लिए खुद खंबे पर सीढ़ी लगाकर चढ़ने के एक मामले को लेकर एडवोकेट देशराज भार्गव (advocate deshraj bhargav) ने विशेष न्यायाधीश ग्वालियर के यहां परिवाद दाखिल किया है। इस परिवाद में प्रद्युम्न सिंह तोमर (pradhuman singh tomar) के अलावा विद्युत अधिकारियों को भी शामिल किया गया है। जिस पर अब 11 मई को सुनवाई होगी। दरअसल विशेष न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत परिवाद में उल्लेख किया गया है कि मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने मोतीझील ट्रांसफार्मर की विद्युत लाइन (line of motijheel transformer) पर सीढ़ी लगाई और खुद चढ़कर 11 केव्ही की विद्युत लाइन (electric lines of 11kv) के साथ छेड़छाड़ की गई।

PunjabKesari

प्रद्युम्न सिंह तोमर को सीढ़ियों के साथ अन्य सामान मुहैया कराना अपराधिक कृत्य 

इस मौके पर बिजली विभाग के कर्मचारी भी मौके पर मौजूद थे। लेकिन उनके द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। जबकि प्रद्युम्न सिंह तोमर (pradhuman singh tomar) को सीढ़ी के साथ ही अन्य सामान भी मुहैया कराकर एक तरह से अपराध का काम किया है। इस तरह बिजली विभाग के अधिकारियों (electricity department officers) ने ऊर्जा मंत्री को अपराधिक कृत्य (criminal act) को रोकने की जगह उनको सहयोग दिया, जोकि दण्डनीय अपराध की श्रेणी में आता है। परिवाद पत्र में इस बात का भी उल्लेख किया गया है कि प्रद्युम्न सिंह तोमर ने उस कृत्य को सोशल मीडिया पर वायरल (viral on social media) करके यह कहा कि वह अधिकारियों को संदेश देना चाहते हैं, ताकि फील्ड में अधिकारी ठीक से काम करे। 

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!