पिता ने बेटी के साथ मिलकर पुत्र का अपहरण कर उतारा मौत के घाट, जानिए क्या है पूरा मामला...

Edited By Himansh sharma, Updated: 11 Feb, 2024 12:12 PM

father kidnapped and killed his own son

दीपक बामने का शव नर्मदापुरम जिले में मालाखेड़ी गांव के पास नर्मदा नदी के एक पुल के नीचे बरामद हुआ है ।

बैतूल। (विनोद पातरिया): मध्य प्रदेश के बैतूल के घोड़ाडोंगरी से 7 फरवरी की रात अगवा हुए युवक दीपक बामने का शव नर्मदापुरम जिले में मालाखेड़ी गांव के पास नर्मदा नदी के एक पुल के नीचे बरामद हुआ है । दीपक की हत्या का सनसनीखेज खुलासा हुआ है। दीपक की हत्या  उसके सगे पिता सौतेली बहन और बहन के एक दोस्त ने मिलकर की थी। हत्या के पीछे सम्पत्ति का विवाद बताया जा रहा है। दीपक के पिता ने दूसरी शादी की थी। जिससे दीपक के दादा दादी नाखुश थे और उन्होंने अपनी सारी सम्पत्ति पोते दीपक के नाम लिख दी थी।


 दादा की मौत के बाद दीपक अपनी दादी के साथ ही रहता था। संपत्ति से बेदखल हुए दीपक के पिता अनिल बामने और सौतेली बहन आरती ने दीपक को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। 7 फरवरी के दिन दीपक के पिता ,सौतेली बहन और बहन के एक दोस्त ने मिलकर दीपक को घोड़ाडोंगरी से अगवा किया और एक काले रंग की कार में उसे लेकर फरार हो गए। तीनो ने मिलकर दीपक को कार के अंदर ही गला घोंटकर मार डाला और उसका शव नर्मदापुरम जिले में एक पुल के नीचे फेंक कर फरार हो गए। दीपक को घोड़ाडोंगरी में जहां से अगवा किया गया था वहां उसकी घड़ी बरामद हुई थी।


 जिसे उसकी दादी ने पहचान लिया था और ये तय हो गया था कि दीपक को ही अगवा किया गया था। पुलिस ने दीपक के परिजनों की डिटेल खंगाली तो सभी की लोकेशन वारदात के दिन एक ही जगह मिली जिससे संदेह के आधार पर दीपक के पिता से पूछताछ हुई जिसमें दीपक की हत्या का खुलासा हुआ। पुलिस ने फिलहाल दीपक के पिता को गिरफ्तार कर लिया है  वहीं उसकी सौतेली बहन और उसका बॉयफ्रेंड अभी फरार है ।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!