बेटे की जान बचाने के लिए पिता ने उठाया ये कदम, जानकर नम हो जाएंगी आपकी आंखें

Edited By meena, Updated: 20 Jan, 2024 02:57 PM

shahdol father took this step to save his son s life

एक पिता किसी भी परिवार के लिए वट वृक्ष की तरह होता है। जिसकी छाव में हर दुख कम हो जाता है...

शहडोल (कैलाश लालवानी): एक पिता किसी भी परिवार के लिए वट वृक्ष की तरह होता है। जिसकी छाव में हर दुख कम हो जाता है। पिता के बिना किसी बच्चे के लिए जिंदगी की कल्पना करना बेहद मुश्किल काम होता है। पिता से जुड़ी एक ऐसी ही कहानी सामने आई है, जिसे सुनकर हर इंसान भावुक हो जायेगा। शहडोल जिले में एक पिता ने बेटे की जान बचाने के फेर में खुद की जान गंवा देने का बेहद मार्मिक मामला शहडोल जिले के बुढार थाना क्षेत्र से सामने आया है। जहां एक पिता अपने परिवार के साथ रेल्वे लाइन क्रॉस कर रहा था, इसी दौरान ट्रेन आ गई जिससे उसने अपने 10 साल के बेटे की जान तो बचा ली लेकिन खुद की जान गंवा दी।

PunjabKesari

बुढार पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, अमलाई थाना क्षेत्र रूंगटा कालरी नई दफाई निवासी बहादुर खान पिता सिपाही अंसारी 58 वर्ष अपनी बीवी व लगभग 10 वर्षीय बच्चे के साथ बुढार थाना क्षेत्र के बुढार रेवले साइडिंग रोड पर परिवार के साथ रेल्वे पटरी पार कर जा रहे थे, तभी अचानक सामने से ट्रेन आ गई तो पिता जोर से आवाज देकर बेटे को बचाने के दौड़ा और ट्रेन की चपेट में आ गया जबकि बेटा सुरक्षित उस पार चला गया। इस हादसे में पिता के कई टुकड़े हो गए और उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस नजारे को जिसने भी देखा उसका दिल दहल गया।  इस घटना के बाद उनकी पत्नी और बच्चे का रो रो कर बुरा हाल है। मामले की जानकारी लगते ही रेलवे पुलिस व बुढार पुलिस मौके पर पहुंच गई। बुढार पुलिस ने मर्ग कायम कर शव का पोस्टमार्टम करा शव परिजनों के हवाले कर दिया है।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!