Gurupurnima celebrated: मुनि श्री विद्यासागर महाराज के सानिध्य में गुरु भक्तों ने मनाई गुरुपूर्णिमा, भक्तमय हुआ पंडाल

Edited By Devendra Singh, Updated: 13 Jul, 2022 07:39 PM

gurupurnima celebrated by guru devotees in the presence of vidyasagar maharaj

मुनिश्री विनय सागर महाराज (vinay sagar maharaj) के सानिध्य बुधवार को साधननुभूति बर्षयोग व पुलक मंच परिवार कमेटी की ओर से माधवगंज स्थित चातुर्मास सभागार में गुरू पूर्णिमा धूमधाम के साथ मनाया गया।

ग्वालियर (ग्वालियर): आचार्यश्री विनम्र सागर महाराज (vinamra sagar maharaj) के परम शिष्या श्रमण मुनिश्री विनय सागर महाराज (vinay sagar maharaj) के सानिध्य बुधवार को साधननुभूति बर्षयोग व पुलक मंच परिवार कमेटी की ओर से माधवगंज स्थित चातुर्मास सभागार में गुरू पूर्णिमा धूमधाम के साथ मनाया गया। जैन समाज के प्रवक्ता सचिन जैन ने बताया कि कार्यक्रम शुभारंभ आचार्यश्री आचार्यश्री विराग सागर, आचार्यश्री पुलक सागर का चित्र का आवरण जैन समाजजनों ने किया। दीप प्रज्वलित सोहनलाल मनोज जैन कॉलेज ने किया।

PunjabKesari

बीजेपी नेता मुन्नलाल गोयल हुए कार्यक्रम में शामिल  

मुनिश्री विनय सागर महाराज के पाद प्रच्छालन मुनिसेवा संघ महिला मंडल ने किए। मुनिश्री को शास्त्र भेंट विपिन जैन परिवार व भव्य आरती चक्रेश अशी जैन परिवार ने की। मुनिश्री विनय सागर महाराज से मुख्य अतिथि केबिनेट मंत्री दर्ज व निगम बीज के अध्यक्ष मुन्नलाल गोयल व भाजपा नेता दिनेश जैन ने पहुंचकर श्रीफल भेंटकर मंगल आशीर्वाद लिया। अतिथियों का स्वागत साधननुभूति बर्षयोग संमिति एवं सहयोगी संस्था पुलक मंच परिवार ग्वालियर के अध्यक्ष चक्रेश जैन, मनोज जैन कॉलेज, स्वागताध्यक्ष राजेश जैन, सचिव जितेंद्र जैन, धर्मेंद्र जैन, नरेंद्र जैन सोनू, माला व साफा पहनाकर सम्मानित किया।

मुनिश्री का गुरूपूर्णिमा पर हुआ संगीतमय पूजन

जैन समाज के प्रवक्ता सचिन आदर्श कलम ने बताया कि पूजन का सबसे पहले आचार्यश्री विराग सागर का महाअर्घ्य बर्षयोग संमिति, आचार्यश्री विनम्र का अर्घ्य युवाओं एवं आचार्यश्री पुलक सागर महाराज का अर्घ्य जैन महिला जागृति मंच ने भक्तिभव के साथ समर्पित किया। मुनिश्री विनय सागर महाराज का पूजन की स्थापना डॉ. वीणा जैन के साथ जैन समाज की संस्थाओं व जैन समाजजनों ने भक्ति भाव एवं नृत्य करते हुये हाथों में सज्जी होई अष्ट्र द्रव्य जल, चन्दन, अक्षत, पुष्प, नैवेद, दीप, धूप, फल, एवं महाअर्घ्य पंडित चंद्र प्रकाश जैन, ज्योतिचार्य हुकुमचंद जैन, व सुनील भंडारी ने मंत्र उच्चरण के साथ मुनिश्री के समक्ष अर्घ समर्पित करवायें। पूरे पंडाल में मुनिश्री विनय सागर महाराज के जयकारों के साथ गूंज उठा और महिलाओं और बालिकाओं ने भजनों पर नृत्य किया। 

PunjabKesari

गुरुपूर्णिमा पर गुरु के संगीतमय भजनों भक्ति झूमें गुरूभक्त

गुरुपूर्णिमा कार्यक्रम में संगीतकर अर्पित जैन, पारस जैन, अखिल जैन ने दीवान गुरूवर का जाप गुरूवर का नाम दीवान गुरूवर, गुरूवर की सूरतिया लगे, प्यारी प्यारी...गुरूवर हम तो दीवाने है तेरे...मुझे लगी गुरूसंग प्रीत की दुनिया क्या जाने....मेरे वीर प्रभू के द्वार ढोल बाजे रे...छोटे बाबा रे पधारो मोरे अंगना...जब खिड़की खोलू तो तेरा दर्शन हो जाएं.. चन्द्र प्रभू के दर्शन करने सोनागिर को जाऊंगी जैसे भजनो पर गुरूभक्तो ने जमकार नृत्य किया।  

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!