ग्वालियर-चंबल के लिए One man army बने सिंधिया ! कांग्रेस को दे रहे झटके पे झटका, चर्चा में गुना लोकसभा सीट

Edited By meena, Updated: 12 Feb, 2024 05:29 PM

scindia becomes one man army for gwalior chambal

लोकसभा चुनाव से पहले सिंधिया कांग्रेस को झटके पर झटका दे रहे हैं...

ग्वालियर: लोकसभा चुनाव से पहले सिंधिया कांग्रेस को झटके पर झटका दे रहे हैं। पिछले कुछ दिनों की बात करे तो चंबल में ज्योतिरादित्य सिंधिया एक सेनापति की तरह डटे हुए हैं। हर रोज कोई न कोई बड़ा नेता सिंधिया से इंप्रेस होकर कांग्रेस छोड़ रहा है। इसी कड़ी में सबसे बड़ा झटका गुना लोकसभा क्षेत्र सांसद केपी यादव के भाई को केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने भाजपा की सदस्यता दिलवा कर दिया है। बता दे गुना लोकसभा क्षेत्र से सांसद डॉक्टर के पी यादव के 2019 के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद उनके भाई ने भाजपा छोड़ दिया था। साथ ही वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

PunjabKesari

दरअसल, लोकसभा चुनाव से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पिछले 6 माह से बेहद एक्टिव नजर आ रहे हैं। उन्होंने विधानसभा चुनाव में 100 से ज्यादा सभाएं की व कांग्रेस के जुबानी हमलों को भी बखूबी झेला। विधानसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद आगामी लोकसभा से पहले अब उनकी सक्रियता ग्वालियर - चम्बल क्षेत्र में और बढ़ गई है। पिछले 10 दिनों में पचास से अधिक सभाएं की व जनता को संबोधित किया।

कल ही ज्योतिरादित्य सिंधिया दिल्ली से एक कार्यक्रम में शामिल होने ग्वालियर पहुंचे और उन्होंने कांग्रेस को कई झटके दिए। उन्होंने कल एयरपोर्ट पर गुना सांसद केपी यादव के भाई व यूथ कांग्रेस के ज़िला अध्यक्ष अजय पाल यादव को भाजपा की सदस्यता दिलाई। इसके बाद सभाओं में एक कड़ी सी लग गई, क्षेत्र के पांच पार्षदों को भी पार्टी में समर्थकों के साथ शामिल कराया। कांग्रेस पार्षद गौरा अशोक गुर्जर (वार्ड संख्या 62), बीएसपी पार्षद सुरेश सोलंकी (वार्ड संख्या 23), आशा सुरेंद्र चौहान (वार्ड संख्या 2), कमलेश बलवीर सिंह तोमर (वार्ड संख्या 19), दीपक मांझी (वार्ड संख्या 6) ने कल केंद्रीय मंत्री की उपस्थिति में भाजपा की सदस्यता ली । इसके साथ अलग से 320 पूर्व कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को भी पार्टी में शामिल कराया।

PunjabKesari

ग्वालियर चंबल में कमजोर हो रही कांग्रेस

लोकसभा चुनाव से पहले बहुत से कांग्रेस नेताओं ने भाजपा ज्वाइन कर ली है। ज्योतिरादित्य लगातार झटके पे झटका दे रहे हैं। खास बात यह कि जो नेतागण विधानसभा चुनाव के समय भाजपा में आने से चूक गए वे अब भाजपा में शामिल हो रहे हैं। ऐसे में कांग्रेस को लोकसभा चुनाव के लिए प्रबल दावेदार भी नहीं मिल रहा है।

PunjabKesari

गुना में एक तीर से दो निशाने

गुना लोकसभा की बात करें तो यहां ज्योतिरादित्य सिंधिया के एक तीर से दो निशाने मारे हैं। कांग्रेस नेता व सांसद केपी यादव के भाई को भाजपा की सदस्यता दिलाकर नई सियासी बवाल मचा दिया है। ऐसे में चर्चा हो रही है कि यहां से चुनाव कौन लड़ेगा। एक तरफ ज्योतिरादित्य सिंधिया भाजपा की ओर से खुद टिकट के प्रबल दावेदार हैं, तो वहीं चुनाव हारने वाले डॉक्टर के पी यादव भी यहां से दोबारा टिकट की मांग कर रहे हैं।

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!