इलाज ना मिलने पर पेशेंट ने लगाया कलेक्टर को फोन, अस्पताल पहुंचकर दिलाई दवाई डॉक्टरों को लगाई फटकार

Edited By meena, Updated: 22 Jan, 2022 10:00 PM

the patient called the collector for not getting treatment

छतरपुर जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं को लेकर जिला कलेक्टर संदीप बेहद गंभीर नजर आ रहे है। इससे पहले भी वे कई बार अस्पताल का दौरा कर व्यवस्थाएं सुधारने की नसीहत दे चुके हैं। लेकिन काम के प्रति उनकी गंभीरता का उदाहरण उस समय देखने को मिला जब एक युवक की कॉल...

छतरपुर(राजेश चौरसिया): छतरपुर जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं को लेकर जिला कलेक्टर संदीप बेहद गंभीर नजर आ रहे है। इससे पहले भी वे कई बार अस्पताल का दौरा कर व्यवस्थाएं सुधारने की नसीहत दे चुके हैं। लेकिन काम के प्रति उनकी गंभीरता का उदाहरण उस समय देखने को मिला जब एक युवक की कॉल पर वे अस्पताल पहुंच गए।

PunjabKesari

दरअसल, 22 वर्षीय सचिन मिश्रा आज जिला अस्पताल अपना इलाज कराने पहुंचा जहां कोई भी डॉक्टर वहां मौजूद नहीं थे। इस पर युवक ने जिला कलेक्टर को फोन लगाकर जानकारी दी कि वह इलाज कराना चाहता है परंतु यहां जिला अस्पताल में संबंधित चिकित्सक मौजूद नहीं है। कलेक्टर छतरपुर ने युवक को आश्वासन दिया कि वह तुरंत स्वयं जिला अस्पताल पहुंचते हैं आप वहीं रुको।

PunjabKesari

कलेक्टर संदीप ने जो कहा वैसे ही किया और तुरंत जिला अस्पताल पहुंच गए। हालांकि इस दौरान किसी भी स्टाफ मेंबर या कर्मचारी को पता नहीं चला कि कलेक्टर अस्पताल पहुंचे हैं। कलेक्टर संदीप ने खुद लड़के के साथ खड़े होकर पर्चा बनवाया और इमरजेंसी में साथ दिखवाने पहुंचे। सोशल डिस्टेंस बनाकर युवक के साथ लाइन में खड़े हो गए। जहां ड्यूटी डॉक्टर CP यादव कलेक्टर साहब को नहीं पहचान सके और जैसे ही अन्य मेडिकल आफिसर और अस्पताल पहुंचे और कलेक्टर के आगे पीछे घूमने लगे तो डॉक्टर CP यादव को पता चला तो उन्होंने तत्काल कुर्सी छोड़ दी और उठ खड़े हुए। तो कलेक्टर ने डॉक्टर को अपना काम संजीदगी से करने के लिए कहा।

PunjabKesari

इतना ही नहीं अन्य चेम्बरों में चेकिंग के दौरान कलेक्टर ने चिकित्सक तथा स्वास्थ्य कर्मियों को जमकर फटकार लगाई। दंत चिकित्सक डॉक्टर अशोक नौगरिया को फटकार लगाते हुए कहा कि इस तरह नहीं चलेगा कि पेशेंट खड़ा रहे और आप चेम्बर से नदारद रहें।

PunjabKesari

अस्पताल पहुंचने की खबर को लेकर स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गई और आनन-फानन में के सिविल सर्जन, बीएमओ और सीएमएचओ अस्पताल जा पहुंचे। जहां उन्होंने हर डॉक्टर का केबिन/चेम्बर चेक किया और गैरमौजूद डॉक्टरों को नोटिस देने की बात करते हुए व्यवस्था सुधारने का अल्टीमेटम दिया।

PunjabKesari

जहां एक ओर कलेक्टर साहब त्वरित कार्यप्रणाली और संजीदगी की लोग खुलकर तारीफ कर रहे हैं। तो वहीं दूसरी ओर अस्पताल और प्रशासनिक अमले में हड़कंप मचा हुआ है। कि पता नहीं कलेक्टर साहब कब, कहाँ, कैसे, रियलटी वॉच करने आ धमकें और शामत आ जाये।

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!