gwalior news: बच्चों द्वारा बनाई गई सामग्री कहीं ना कहीं स्वच्छता में योगदान: निगम आयुक्त

Edited By Devendra Singh, Updated: 22 Jun, 2022 04:38 PM

contribution of material made by children in gwalior to cleanliness

बच्चों के द्वारा बनाई गई सामग्री कहीं ना कहीं स्वच्छता में योगदान की तरह देखी जा सकती हैं। क्योंकि ये बच्चे पुराने पेपर कटिंग आदि के माध्यम से सामग्री निर्मित कर रहे हैं।

ग्वालियर (अंकुर जैन): "एहसास"  एक ऐसा शिक्षा का केंद्र है। जिसमें शिक्षा उन अबोध बच्चों को दी जा रही है, जो समाज के मानदंडों पर खरे नहीं उतरते या यूं कहें जो हम सबसे अलग है जिनकी दुनिया अलग है। लेकिन इनकी अलग दुनिया के बीच इनके लिए जीवन जीने का रास्ता निकालने इन बच्चों को भी आत्मनिर्भर बनाने का सच्चा और ईमानदार प्रयास एहसास की संचालिका मैडम मदान, मैडम अरोड़ा आदि कर रही हैं। 

धैर्य और संवेदनशील का परिचय देते हैं बच्चे

यहां जाने पर आपको एहसास होगा कि यहां हर एक व्यक्ति एक अलग प्रकार के धैर्य और संवेदनशील का परिचय दे रहा है। सेरेब्रल पाल्सी, मानसिक पिछड़पन से पीड़ित ये बच्चे जब चिल्लाते हैं या हाथ चला देते हैं तो यहां उपस्थित शिक्षिकायें इसे लाड़, कहकर इनको प्यार करती हैं। इन बच्चों के विषय में वहां उपाथित स्टाफ से पूछा गया तो उन्होंने कहा kf इन बच्चों में साक्षात ईश्वर नजर आता है।

निगम आयुक्त किशोर कान्याल ने किया मुआयना 

ऐसे निर्मल प्रयास एहसास को देखने जब निगम आयुक्त किशोर कान्याल देखने गए तो वो इन बच्चों के द्वारा स्कूल के माध्यम से पुरानी और बेकार वस्तुओं से बनाए जा रहे लिफाफे, बैग, ज्वैलरी बॉक्स, पूजा की थाली आदि देखकर इतने प्रभावित हो गए कि उन्होंने इस सामग्री को नगर निगम के माध्यम से 3R Mart पर रख इसका प्रचार प्रसार करने के निर्देश निगम स्टाफ को दिए। इसी क्रम में अपर आयुक्त मुकुल गुप्ता और उपायुक्त मिनी अग्रवाल ने केंद्र का निरीक्षण करने के बाद, उन बच्चों द्वारा बनाई गई सामग्री को सालासर में संचालित 3R MART पर रखवाया। 

PunjabKesari

स्वच्छता में योगदान लेकिन कैसे?

ग्वालियर नगर निगम के द्वारा समस्त वार्डों में संचालित 3R मार्ट पुरानी वस्तुओं को दोबारा उपयोग करना। पुनरुत्पादन करने एवं कचरे को कम करने की उद्देश्य 3R सिद्धांत पर संचालित किए जा रहे हैं। इन बच्चों के द्वारा बनाई गई सामग्री कहीं ना कहीं स्वच्छता में योगदान की तरह देखी जा सकती हैं। क्योंकि ये बच्चे पुराने पेपर कटिंग आदि के माध्यम से सामग्री निर्मित कर रहे हैं। संचालिका को निगम द्वारा कहा गया की कबाड़ से जुगाड कर भी सामान इन बच्चों के माध्यम से निर्मित कर 3R Mart पर रखवाएं ताकि स्वच्छता में अमूल्य योगदान ये बच्चे दें।

सालासर मार्ट में बच्चों द्वारा बनाए गए सामान की एक रैक 

उनके द्वारा निर्मित सामान के लिए एक रैक भी नगर निगम द्वारा सालासर मार्ट में उपलब्ध कराया गया है। जहां एहसास के बच्चों द्वारा बनाए गए सामान को रखा गया है। इस एहसास को देखने के बाद आप सभी को ये एहसास होगा कि स्वामी विवेकानंद द्वारा कहे गए मानव सेवा ही सच्ची सेवा को ये विद्यालय एवं नगर निगम ग्वालियर मूर्त रूप दे रहा है। अब नगर निगम ग्वालियर के साथ मिलकर एहसास संस्था एवं उनके ये प्यारे और अदभुत बच्चे स्वच्छता के क्षेत्र में भी एक नए आयाम स्थापित करने के लिए तैयार है।

नगर निगम ने दिया धन्यवाद

संचालिका के द्वारा कहा गया कि हमारे ये प्यारे बच्चे कहीं ना कहीं किसी ना किसी रूप में स्वच्छता में अपना योगदान दे पा रहे हैं और उन्होंने नगर निगम को धन्यवाद दिया है। इन बच्चों द्वारा निर्मित सामग्री को 3 R Mart पर रखने के कारण कहीं ना कहीं इन बच्चों का और इन बच्चों के माता पिता का उत्साहवर्धन होगा।

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!